अबकी बार भी बीटीसी में बीपीएफ संभालेगी सत्ता- हग्रामा महिलारी

In राज्य

गोपाल प्रसाद

कोकराझार , 18 सितम्बर (संवाद 365)। बोड़ोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल में फिलहाल चुनाव के दिन की घोषणा अभी नहीं हुई है। बीटीसी में राज्यपाल का शासन है। कोरोना काल के बावजूद सभी पार्टियां जमकर चुनाव प्रचार कर रही हैं। शुक्रवार को एक कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए बीपीएफ के प्रमुख हग्रामा महिलारी ने कहा कि बीटीसी में बहुमत के साथ फिर बीपीएफ सत्ता संभालेगी।

 बीपीएफ के प्रमुख व बीटीसी के पूर्व मुख्य कार्यकारी पार्षद हग्रामा महिलारी शुक्रवार को कोकराझार शहर के बीचों बीच बीपीएफ कार्यालय में नव निर्मित हग्रामा कांफ्रेस हॉल का उद्घाटन किया। इस मौके पर उपस्थित पार्टी के नेता व कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए महिलारी ने राज्यपाल शासन की समय सीमा आगे बढ़ाने का विरोध करते हुए 27 अक्टूबर तक चुनाव कराने की मांग की। हग्रामा की मौजूदगी में यूपीपीएल, जीएसपी पार्टियों के187 लोग बीपीएफ में शामिल हुए। सभी नवागतों का पार्टी अध्यक्ष ने स्वागत किया।

मीडिया को संबोधित करते हुए हग्रामा ने कहा कि हम राज्य सरकार से मांग करते हैं कि आगामी 27 अक्टूबर तक बीटीसी में चुनाव करा लिए जाएं। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नही हुआ तो दुबारा छह महीने के लिए राज्यपाल शासन को बढ़ा दिया जाएगा। ऐसा होने से बीटीसी के लिए अच्छा नहीं होगा। विकास के सभी काम पिछले छह महीने ठर पड़ा हुआ है।

उन्होंने अपने विरोधियों को भी जमकर आड़े हाथों लिया। खासकर यूपीपीएल के प्रमुख प्रमोद बोड़ो की जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा कि प्रमोद बोड़ो कोचराजवंशी, आदिवासी समाज, गैर बोड़ो समाज व अल्पसंख्यक समाज के विरूद्ध काम करते रहे हैं। इसलिए इस समाज के लोग कभी भी यूपीपीएल का समर्थन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि बीपीएफ के शासन में सभी समाजों के लोगों का विकास हुआ है।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!