असम-मिजोरम सीमा पर हिंसा व आगजनी, सोनोवाल ने केंद्र को कराया अवगत  

In अपराध

गुवाहाटी, 19 अक्टूबर (संवाद 365) असम-मिजोरम सीमावर्ती इलाके में हिंसक व आगजनी के बाद तनाव को देखते हुए पूरे इलाके में सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की शाम कुछ शरारती तत्वों द्वारा असम-मिजोरम के सीमावर्ती इलाके में जमकर उपद्रव मचाया। उपद्रवियों द्वारा कई घर और दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। उपद्रवियों द्वारा किए गए प्रहार में कई लोग जख्मी हुए हैं ।

मिजोरम के कोलासिब और असम के कछार में हिंसक घटनाएं हुई है। घटना के को लेकर असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा से बात कर प्रधानमंत्री कार्यालय एवं गृह मंत्रालय स्थिति का अवगत कराया है। दोनों राज्य के केंद्र गृह सचिव की अध्यक्षता में आज मुख्य सचिव की एक अहम बैठक का आयोजन किया गया है।

मिजोरम सरकार की ओर से हिंसा प्रभावित इलाके वैरेंगते गांव और कोलासिब में भारतीय रिजर्व पुलिस की तैनाती की गई है। वही असम के लैलापुर में भी सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम की गई। ज्ञात हो कि शनिवार की रात असम-मिजोरम लैलापुर में हुई हिंसक झड़प के दौरान पेट्रोल बम का भी व्यवहार किया गया ।झड़प के दौरान दुकान घर को आग के हवाले कर दिया गया। झड़प के दौरान 40 लोग घायल होने की खबर है ।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल असम-मिजोरम सीमा पर हिंसा व आगजनी के बाद तनाव पर पैनी नजर रखे हुए हैं। मुख्यमंत्री सोनवाल के निर्देश पर स्थानीय विधायक परिमल शुक्लावैद्य को असम-मिजोरम इलाके में भड़की हिंसा वाली घटनास्थल का दौरा कर स्थिति का जायजा लेने को कहा। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद मंत्री शुक्लावैद्य ने तनाव ग्रस्त इलाके का दौरा किया।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!