खेत्री गांव पंचायत ने कायम की मिसाल

In राज्य

खेत्री, संवाद 365, 14 मार्च: जहां एक ओर ग्राम पंचायतों में अनियमितता की खबरें सरेआम सुनने को मिलती है। इस बीच असम का ऐसा एक गांव पंचायत है, जिसने अपने कार्यों के जरिए मिसाल कायम की है। असम के कामरूप (मेट्रो) जिलांतर्गत राजधानी गुवाहाटी से महज 30 किमी की दूरी पर स्थित खेत्री गांव पंचायत ने एक मिसाल कायम की है। 62 नंबर खेत्री गांव पंचायत की अध्यक्ष अनु रंग्संग दलै ने खेत्री गांव पंचायत के अध्यक्ष पद पर रहते ग्राम पंचायत के नाम कई पुरस्कार अर्जित किया है। वर्ष 2013-14 में ग्राम पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार, वर्ष 2014-15 में ग्राम पंचायत सशक्तिकरण  व गौरव ग्राम पुरस्कार, वहीं 2014-15 में भारत के 10 राज्यों में से असम का एकमात्र गांव पंचायत बेस्ट ऐनरेगा योजना के तहत पहला स्थान हासिल किया है। इन सभी पुरस्कारों से प्राप्त नगद 35 लाख रुपए को इकट्ठा कर गांव पंचायत अध्यक्ष के नेतृत्व में गांव पंचायत के सभी लोगों ने मिलकर खेत्री में एक प्रेक्षागृह का निर्माण कराया। निर्माण कार्य में 26 लाख रुपए कम पड़े थे, जिसको 14 लोगों फाइनेंस के जरिए मुहैया कराया। 65 लाख रुपए की लागत खेत्री में काफी आकर्षक प्रेक्षागृह का निर्माण किया गया है। इसमें एक बड़ा हाल भी बनाया गया है, जो गांव वालों के लिए आने वाले समय में काफी सुविधाजनक साबित होगा। प्रेक्षागृह बुधवार को उद्घाटन स्थानीय दिसपुर के विधायक अतुल बोरा ने भव्य समारोह में किया। इस मौके पर काफी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे। विधायक ने गांव पंचायत अध्यक्ष के इस कार्य की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि अपनी मेहनत के बल और अपनी सूझबूझ से इस प्रेक्षागृह का निर्माण कराया है, जो पूरे गांव पंचायत के लिए काम आएगा। उन्होंने अन्य महिलाओं को इससे सीख लेने की अपील की।

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Mobile Sliding Menu