डॉक्टर देवेन दत्त हत्याकांड मामले में एक को फांसी, 24 को उम्रकैद की सजा  

In अपराध

जोरहाट, 20 अक्टूबर (संवाद 365)। डॉक्टर देवेन दत्त हत्या मामले में न्यायालय ने एक को फांसी और 24 आरोपीतो को आजीवन कारावास का सजा सुनाया है। डॉक्टर देवेन दत्त हत्या मामले में न्यायालय का फैसला आने के बाद असम के जाने-माने मानव अधिकार तथा समाज कर्मी डॉ. दिव्यज्योति सैकिया ने कहा कि सामूहिक हत्या मामले में हत्यारों को कड़ी सजा मिले इसकी कानून जल्द लागू होनी चाहिए।

ज्ञात रूप के सन 2019 के 31 अगस्त को जोरहाट जिले के टीयक चाय बगीचा में डॉक्टर देवन दत्त नामक एक चिकित्सक को सामूहिक भीड़ द्वारा बड़े ही बेरहमी से पीट पीट कर हत्या कर दी गई थी। मंगलवार को डॉक्टर देवेन हत्या मामले में जोरहाट सत्र न्यायालय ने अपना फैसला सुनाते हुए एक आरोपित को फांसी और 24 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाया है। मृत्युदंड की सजा संजय राजवर नामक हत्यारों को सुनाई गई है। संजय को मौत की सजा सुनाए जाने के बाद राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सहित कई पुरस्कार अपने नाम कर चुके डॉ. दिव्यज्योति सैकिया ने इस फैसला का स्वागत किया है।

उन्होंने कहा कि इस तरह की हत्या हिंसा को रोकने के लिए राष्ट्रीय या राज्य के स्थर पर एक कठोर कानून की जरूरत है। डॉक्टर देवेन की सामूहिक भीड़ द्वारा हत्या किए जाने के 22 दिन के भीतर एक 602 पन्नों का चार्जशीट दाखिल करना और 32 लोगों को गिरफ्तार कर उस समय के जोरहाट जिले के पुलिस अधीक्षक वैभव सी निंवालकर ने एक मिसाल कायम की थी। मैं उन को तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं। वही डॉ सैकिया ने कहा कि डॉक्टर देवेन हत्या मामले में असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनवाल द्वारा लिया गया निर्णय काफी प्रशंसनीय रहा ।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!