तीन बांग्लादेशी चोरों की ग्रामीणों ने पीट पीट कर मार डाला

In राज्य

करीमगंज , 20 जुलाई (संवाद 365)। करीमगंज जिला के बुबरीघाट चाय बागान के 10 नबंर लाइन (तेलेंगा बस्ति) के निवासियों ने रविवार की तड़के पशु चोरी के इरादे से आए 07 बांग्लादेशी चोरों में से तीन की बुरी तरह से पिटाई कर दी, तीनों चोरों की मौके पर ही मौत हो गई।

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पथारकांदी थाना की पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में भेज दिया। साथ ही घटनास्थल से पुलिस काफी मात्रा में बांग्लादेशी सामग्री बरामद किया है। शवों की शिनाख्त नहीं हो पाई है। ज्ञात हो कि पिछले महीने भी ठीक इसी तरह की घटना घटी थी। चाय बागान के निवासियों द्वारा की गई पिटाई में एक बांग्लादेशी चोर की मौत हुई थी।

पुलिस सूत्रों ने बताया है कि रविवार की तड़के लगभग 02 बजे के आसपास दो स्थानीय लोगों के घरों में चोरी के इरादे से 07 बांग्लादेशी चोर घुसे थे। घर वालों को जैसे ही इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने चुप-चाप गांव के लोगों को मोबाइल फोन के जरिए इसकी जानकारी दी। जिसके बाद गांव के सभी लोगों ने चोरों को पकड़ने के लिए घेराबंदी शुरू कर दी। चोर ग्रामीणों को देख जंगल में जाकर छुप गए। ग्रामीण 02 से 04 बजे तक लगातार चोरों की तलाश करत रहे। अंततः तीन चोरों को ग्रामीणों ने पकड़ लिया।

इस बीच चोर दो ग्रामीणों पर हंसिया व अन्य हथियार से हमला करने की कोशिश की। जिसके बाद ग्रामीण मिलकर तीनों की बुरी तरह से पिटाई कर दी। जिसके चलते तीनों की मौके पर ही मौत हो गई। हालांकि, चार चोर मौके से फारर होने में सफल हो गए।

पुलिस सूत्रों के अनुसार तीनों मृतक बांग्लादेश के मौलवी बाजार जिला के उप जिला (सब डिविजन) जुरी के जामकांदी गांव के निवासी हैं। हालांकि, इसकी औपचारिक पुष्टि बांग्लादेश बार्डर गार्ड के जरिए की जा रही है। इस घटना को लेकर इलाके में सनसनी व्याप्त है। ज्ञात हो कि पड़ोसी देश बांग्लादेश से चोर और डकैत खुली अंतरराष्ट्रीय सीमा का फायदा उठाते हुए रात के अंधेरे में भारतीय सीमा में प्रवेश कर विभिन्न प्रकार के अपराधों को अंजाम देने के बाद फरार हो जाते हैं।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!