बद से बदतर जिंदगी जीने पर मजबूर एक परिवार

In राज्य

बद से बदतर जिंदगी जीने पर मजबूर एक परिवार

गुवाहाटी, 23 अप्रैल (संवाद 365)। गुवाहाटी महानगर के बाहरी इलाका स्थित सोनापुर पुलिस थाना अंतर्गत सोनापुर गांव पंचायत के महमारा गांव निवासी विजय दास पिछले कई वर्षों से अपने दो बच्चे और पत्नी के साथ एक टूटी हुई झोपड़ी में रह रहा है ।

दैनिक मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करने वाला विजय दास लॉक डाउन के वजह से इन दिनों काफी परेशान है । एक ओर वह दैनिक मजदूरी करने के लिए बाहर नहीं जा सकता है, दूसरी ओर बरसात के मौसम में घर रहने लायक नहीं है । विजय दास ने बातचीत के दौरान कहा कि मैं हर चुनाव में इस उम्मीद से मतदान करता हूं कि इस बार अच्छे नेता चुने जाएंगे और मुझे सरकारी योजना के तहत एक अच्छा घर नसीब होगा ।

लेकिन, एक अच्छे घर का सपना मेरा आज तक सपना ही रह गया। गुवाहाटी महानगर से महज कुछ ही किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत विजय दास जैसे जरूरतमंद लोगों को घर नसीब नहीं हुई तो असम के अंदरूनी गांवों का क्या हाल होगा । आप खुद ही आंकलन कर सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि विजय दास की इस तरह अपने परिवार के साथ जी रहे जीवन की कथा की जानकारी नेताओं तक पहुंचेगी और नेता इस संबंध में संबंधित विभाग को आदेश देकर विजय को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक सरकारी घर मुहैया कराएंगे।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!