मशरूम की खेती के प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ

In राज्य

सोनापुर, संवाद 365, 24 अप्रैल : सोनापुर थानांतर्गत इलाके में मंगलवार को मशरूम की खेती के प्रशिक्षण केंद्र का शुभारंभ किया गया। मशरूम की खेती के जरिए आर्थिक स्वावलंबन के मद्देनजर इस केंद्र से किसानों को प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। इस केंद्र का उद्घाटन राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं एमजीवीके भानू ने किया। उल्लेखनीय है कि मशरुम डेवलपमेंट फाउंडेशन और असम प्रदेश ग्रामीण जीविका अभियान के प्रयास से सोनापुर के मरंगाबारी इलाके में मशरूम डेमोंस्ट्रेशन यूनिट स्थापित किया गया है। डिमोरिया विकास खंड के विभिन्न स्थानों में मशरूम के पांच डेमोंस्ट्रेशन यूनिट अर्थात मशरूम संग्रहण और वितरण केंद्र स्थापित किया गया है। यह केंद्र 125 आत्म सहायक गुटों के द्वारा संचालित होगा। इन केंद्रों के जरिए उत्पादित मशरूम से स्थानीय ग्रामीण अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ कर पाने में सफल होंगे। ज्ञात हो कि पुष्टि अभियान नामक आरंभ योजना के अंतर्गत मशरूम खेती की शिक्षा को संग्रहण और वितरण केंद्रों के जरिए मुहैया कराया जाएगा। इसका शुभारंभ राज्य के मुख्य सचिव ने किया। केंद्र का उद्घाटन करने के अवसर पर आयोजित एक समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने महिला सबलीकरण के ऊपर विशेष रूप से जोर देने की बात कही। इस अवसर पर अतिरिक्त मुख्य सचिव ने मशरूम उत्पादन केंद्र का दौरा कर इसका जायजा भी लिया। केंद्र के उद्घाटन अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने आत्म सहायक गुटों से मशरूम को अपने आर्थिक स्वावलंबन का आधार बनाने का आह्वान किया। इस अवसर पर कई किसानों को मशरूम के बीज भी वितरित किए गए। उद्घाटन कार्यक्रम में सोनापुर सशस्त्र सीमा सुरक्षा बल के कमांडेंट उमेश कुमार थपलियाल मशरुम डेवलपमेंट फाउंडेशन के प्रांजल बरुवा व असम प्रदेश ग्रामीण जीविका अभियान की नंदिता हजारिका भी मौजूद थीं।

 

 

 

 

Leave a reply:

Your email address will not be published.

Mobile Sliding Menu