राज्य विभिन्न जिलो में सेवा भारती पूर्वांचल ने शुरू किया बाढ़ राहत अभियान

In राज्य

गुवाहाटी, 31 जुलाई (संवाद 365)। सेवा परमो धर्मः मंत्र को ध्येय रखकर सेवा भारती पूर्वांचल सदैव सेवा कार्यों में तत्पर रहती है, और इस बार भी सेवा भारती, पूर्वांचल के द्वारा असम के अलग-अलग स्थान पर सेवा कार्य आरंभ किया गया है। जिसमें जोराहाट, डिब्रूगढ़, माजुली, लखीमपुर, बिश्वनाथ, मोरीगांव, चिरांग, धुबरी, दरंग, बाक्सा, ग्वालपाड़ा, कामरूप (ग्रामीण), तिनसुकिया, कोकराझार, शिवसागर, होजाई, नगांव, नलबाड़ी, बरपेटा आदि जिला शामिल हैं।

उपरोक्त जिलों के राहत शिविरो में चिऊरा, नमक, बिस्किट, चावल, दाल, तेल व बच्चों का खाद्य, शुद्ध पेयजल व गायों के लिये गोदाना का वितरण किया गया। बाढ़ का प्रभाव थोड़ा कम होने के बाद सैनिटाइजेशन की आवश्यकता को देखकर सेवा भारती पूर्वांचल द्वारा योजना बनाई गई। इसके तहत शुक्रवार को मोरीगांव जिला में 500 किलो ब्लीचिंग पावडर, 500 लीटर फिनाइल, 200 परिवारों के लिए दिल्ली से राष्ट्रीय सेवा भारती और हंस फाउंडेशन ने विशेष राशन किट बनाई थी, उसको भी शुक्रवार को वितरण के लिए भेजा गया।

शुद्ध पेयजल की समस्या को देखकर एक मोबिल वाटर फिल्टर बनाया गया है। इजराइल की टेक्नोलॉजी वाले फिल्टर को भी शुक्रवार को मोरीगांव के बाढ़ पीड़ितों के लिए भेजा गया है। आगामी दो दिनों में सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में यह फिल्टर, ब्लीचिंग पाउडर, फिनाइल आदि भेजने की व्यवस्था की गई है। सभी बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में आगामी दिनों में निःशुल्क मेडिकल कैम्प का आयोजन किया जायेगा।

सेवा भारती क्षेत्र संगठन मंत्री सुरेंद्र तालखेडकर ने शुक्रवार को बताया कि ये योजनाएं सभी के सहयोग से ही सफल होंगी। इसलिये इस यज्ञ की आहुति कुछ सेवा देकर कर सकते हैं। सेवा भारती पूर्वांचल, राष्ट्रीय सेवा भारती, हंस फाउंडेशन, नमो जैसे संगठन इस योजना को अंजाम देने में लगे है। राष्ट्रीय सेवा भारती के ऋषीपाल डडवाल, सरवन कुमार दोनों दिल्ली के कार्यकर्ता इस राहत कार्यों के लिये सहयोग करने में लगे हैं। उन्होंने राज्यवासियों से भी इस सहयोग में योगदान देने का आह्वान किया है।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!