सनानत डेका की नृशंस हत्या मामले में शामिल 02 अपराधी गिरफ्तार 03 अब भी फरार

In राज्य

कामरूप, 25 मई (संवाद 365)। सब्जी व्यापारी सनातन डेका की बड़ी बेरहमी से हत्या करने वाले दो अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जबकि अभी तीन अपराधी पुलिस के पकड़ से दूर है। कोरोना महामारी के बीच अपने परिवार का भरण-पोषण करने वाले एक गरीब व निरीह व्यक्ति की नृशंस तरीके से हत्या किए जाने का मामला जब तूल पकड़ने लगा तो पुलिस ने कार्रवाई करते हुए घटना के 48 घंटे के अंदर दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि, 03 आरोपित अभी भी फरार हैं, जिनको पकड़ने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

कामरूप जिला के हाजो पुलिस ने सोमवार को बताया है कि सब्जी व्यवसायी की हत्या के मुख्य आरोपी फैजुल हक और यूसुबुद्दीन अहमद को बीती रात को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं अन्य तीन आरोपितों की तलाश की जा रही है। आरोपों के अनुसार गत 22 मई को हाजो के मनाहकुची इलाके में सनानत डेका सब्जी बेचने के लिए गया था, जहां पर फैजुल हक बिना किस कारण के डेका के साथ झगड़ा किया। बाद में उसने फोन से अपने चार अन्य साथियों जलील अली, खबीर अली, युसूबुद्दीन अहमद और फिरजहान अली को बुलाकर लाठी-डंडे व धारदार हथियार से हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

स्थानीय लोगों ने बताया है कि पिटाई करने के बाद सनातन डेका को सभी आरोपित ले जाने की कोशिश की। हालांकि, स्थानीय लोगों के विरोध के चलते वे डेका को छोड़कर फरार हो गए। गंभीर रूप से घायल डेका को स्थानीय लोगों ने हाजो प्राथमिकी अस्पताल में भर्ती कराया। हालत गंभीर देख उसे जीएनआरसी अस्पताल में रेफर किया गया, जहां पर उसकी मौत हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार सनातन डेका हाजो में श्रमिक के रूप में एक कंपनी में काम करता था। कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन के कारण उसे कोई काम नहीं मिल पा रहा था, जिसके चलते वह साइकिल पर सब्जी लेकर इलाके में घूम-घूमकर बेचकर अपने परिवार का पालन-पोषण कर रहा था। सनातन डेका हत्याकांड में मैं शामिल सभी आरोपितों को कड़ी से कड़ी सजा देने की स्थानीय लोगों ने मांग की है।

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!