चार युवकों पर दुर्व्यवहार का आरोप

In राज्य, राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय

जोराबाट , संवाद 365, 02 अप्रैल : मेघालय के रि-भोई जिले के नोंग्पो में असम की चार युवतियों के साथ मेघालय के चार युवकों द्वारा दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा है। पुलिस के अनुसार असम की चार युवती मेघालय के लाइटलुम कार लेकर रविवार को घूमने गई थीं। लौटते समय रविवार की देर रात को नोंग्पो के निकट मारुति कार से आए चार युवकों ने गुवाहाटी लौट रही युवतियों की कार को राष्ट्रीय राजमार्ग-छह पर रोककर अभद्र व्यवहार के साथ गाली-गलौज किया। कार चला रही युवती के साथ मारपीट भी की। जिसके बाद युवतियों ने वहां से किसी तरह अपनी जान बचाकर आगे निकली। कुछ ही दूरी पर स्थित नोंग्पो पुलिस थाना के नाका चेकिंग पर मौजूद पुलिस वालों से मदद की गुहार लगाई लेकिन मेघालय पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार की मदद नहीं मिलने पर सभी युवतियां देर रात असम के जोराबाट पुलिस चौकी पहुंचकर एक मामला दर्ज कराया। जिसके बाद पुलिस ने चारों युवतियों का सोनापुर जिला अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण कराया। सोमवार की सुबह जोराबाट पुलिस चौकी प्रभारी पार्थ प्रतिम गोगोई ने स्वयं मेघालय के नोंग्पो थाना पहुंचकर युवतियों द्वारा दी गई एफआईआर को नोंग्पो पुलिस थाना के प्रभारी को सौंपा। घटना के संबंध में प्रभारी ने स्वयं और भुक्तभोगी युवतियों को रि-भोई जिला के पुलिस अधीक्षक रमेश सिंह से बात करवाई। पुलिस अधीक्षक ने आश्वासन दिया है कि इस संबंध में किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा। कानून के अनुसार आरोपियों को सजा दी जाएगी। इस घटना को लेकर असम के विभिन्न संगठनों ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते आरोपियों को मेघालय पुलिस द्वारा जल्द से जल्द गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग की है ।

You may also read!

एक करोड़ रुपए की हिरोइन सहित दो गिरफ्तार

गुवाहाटी, 04 दिसंबर (संवाद 365)। गुवाहाटी महानगर की आजरा पुलिस की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर अभियान

Read More...

गहरे तालाब में फिर गिरकर फंसे छह जंगली हाथी, बाहर निकालने में जुटा वन विभाग

ग्वालपारा (असम), 03 दिसम्बर (संंवाद 365)। ग्वालपारा जिला के लखीपुर के सेबारी इलाके में फिर से छह जंगली हाथी

Read More...

गहरे तालाब में फंसे पांच हाथियों को वन विभाग की टीम ने बाहर निकाला

ग्वालपारा , 0 2 दिसम्बर (संवाद 365)। ग्वालपारा जिला के लखीपुर के सेबारी इलाके में गहरे तालाब में फंसे

Read More...

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!