नगांव के बाजारों और चौक चौराहों पर दिख रही लापरवाही

In राज्य

डिंपल शर्मा

नगांव , 13 अप्रैल (संवाद 365)। राज्य में गत कुछ दिनों से कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है। बावजूद, बाजारों और चौक-चौराहों पर लापरवाही का आलम है। हालांकि, नगांव जिला प्रशासन ने लोगों पर सख्ती करते हुए शहर में कहीं-कहीं चालान काटना तो शुरू कर दिए है, लेकिन बेफिक्री ज्यादा दिख रही है।

लोग बेखौफ बिना मास्क के ही दिखाई देते हैं। ज्ञात हो कि अप्रैल महीने में कोरोना की रफ्तार काफी तेजी से बढ़ी है। अब रोजाना नगांव जिला में संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। संक्रमितों की संख्या 50 से ऊपर भी पहुंच रही है। सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम भी जारी है।
ज्ञात हो कि एक दिन में 1500 से 2000 लोग वैक्सीन लगवा रहे हैं। अभी नगांव जिला सदर भोगेश्वरी फुकननी सरकारी अस्पताल के साथ अन्य निजी अस्पतालों में कोरोना की पहली डोज खत्म होने की कही जा रही है। बिहू के बाद वैक्सिन के आने की संभावना है। कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों के बाद जिला प्रशासन द्वारा लोगों को स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की हिदायतों का पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है।
साथ ही कोरोना वैक्सीन को लेकर भी जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। समाज के जागरूक लोगों का कहना है कि कोरोना के चेन को तोड़ना है तो मास्क लगाने के साथ सैनिटाइजर का उपयोग करना होगा। आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलने पर भी रोक लगानी होगी। जागरूक लोगों का कहना है कि आज की विषम परिस्थिति को देखते हुए सभी को मास्क लगाना अनिवार्य है।

खतरनाक बीमारी से बचने के लिए मास्क एवं सैनिटाइजर का उपयोग सभी को करना चाहिए। सावधानी रखकर ही बीमारी से बचा जा सकता है। आज कोरोना महामारी से लड़ाई जारी है। ऐसे में सभी आम नागरिकों का भी दायित्व है कि सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ दें। भीड़ वाले स्थान पर जाने से बचें। आज थोड़ी सी सख्ती से कल हम जीत सकते हैं, थोड़ा संयम रखना जरूरी है।

फोटो स्रोत गूगल

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!