बाघजान आग पर काबू पाने के लिए विदेशों से ले रहे मदद : सीएम

In राज्य

तिनसुकिया, 15 जून। मुख्य मंत्री सर्वानंद सोनोवाल और केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान रविवार को तिनसिकिया जिले के बाघजान में तेल व गैस के कुएं में लगी आग का जायजा लेने के लिए प्रभावित इलाके में पहुंचे थे। घटना का जायजा लेने के बाद जिला उपायुक्त कार्यालय के सभागार गृह में जिनसुकिया जिला के विभिन्न छात्र संगठनों के नेताओं से मुलाकात की। छात्र नेताओं को उन्हें अवगत कराया कि सरकार आग पर काबू पाने और पर्यावरणीय प्रभाव का अध्ययन करने और उपचारात्मक कदमों का सुझाव देने के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया जा रहा है।

बैठक में छात्र नेताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि बाघजान आग की घटना के लिए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि आग को बुझाने के लिए अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और सिंगापुर के विशेषज्ञों को लाने के लिए कदम उठा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हालांकि, सरकार ने अंतरिम राहत के रूप में प्रत्येक विस्थापित पीड़ितों को अंतरिम राहत के तौर 30 हजार रुपये दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार विस्थापितों को पर्याप्त रूप से मुआवजा देने के लिए तौर-तरीकों पर काम कर रही है।

पर्यावरणीय प्रभाव के साथ-साथ आग लगने की घटना से आसपास महसूस किए गए झटके के बारे में बताते हुए मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि सरकार घटना का आंकलन करने के लिए पूरा महत्व दे रही है। आईआईटी गुवाहाटी, क्षेत्रीय अनुसंधान केंद्र, जोरहाट के विशेषज्ञों की एक समिति गठित करने की तैयारी जा रही है।  भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण विशेषज्ञ समिति से फीड प्राप्त करने के बाद सरकार उचित, समयबद्ध कदम उठाएगी। सोनोवाल ने इस महत्वपूर्ण मौके पर सरकार को सभी से समर्थन और सहयोग देने के लिए छात्र नेताओं का आभार व्यक्त किया। केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कहा कि उनका मंत्रालय लोगों को मुआवजा देने और आग को देखते हुए पारिस्थितिक कारकों की पवित्रता को बहाल करने सहित सभी संभव छोटे और दीर्घकालिक उपाय कर रहा है। केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि हालांकि, तेल क्षेत्र राज्य की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, लेकिन तेल उद्योग भी असम के लोगों के लिए बहुत ऋणी है, क्योंकि वे इस संकट की स्थिति में सरकार और उद्योग के लिए समर्थन कर रहे हैं।

बैठक के दौरान ऑल मोरन स्टूडेंट्स यूनियन, ऑल असम मटक यूवा छात्र सम्मेलन, ऑल असम सुतिया स्टूडेंट्स यूनियन, ऑल आदिवासी स्टूडेंट्स एसोसिएशन, गोरखा स्टूडेंट्स यूनियन, ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन, अजायुछाप और अन्य प्रतिनिधि मौजूद थे।

बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए सोनोवाल ने कहा कि सरकार बाघजान के सर्वांगीण विकास के लिए सभी कदम उठाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए सभी व्यावहारिक कदम उठाए जाएंगे, उन्होंने केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री से इस संबंध में राज्य सरकार की मदद करने का अनुरोध किया है। (हि.स.)

Mobile Sliding Menu

error: Content is protected !!